Cotton Variety कपास की ज्यादा पैदावार देने की क्षमता वाली अच्छी किस्मे

दुनिया में सबसे ज्यादा कपास का एरिया भारत में है ! लेकिन भारत कपास का दूसरा बढ़ा मुख्य उत्पादक देश है ! कपास की कम पैदावार के कई कारण हो सकते है लेकिन एक मुख्य कारण अच्छे बीज की उपलब्धता तथा चुनाव भी हो सकता है ! यहाँ पर कुछ किस्मे (cotton variety) जिन्होंने बीते कुछ सालो में अच्छा प्रदर्शन किया है उनके बारे में बताया गया है !

RCH 773 Cotton Variety

Rasi seeds कंपनी की इस वैरायटी को किसानो की अच्छी प्रतिक्रिया मिली है !

इसका पौधा अच्छी ऊंचाई का तथा विगरस होता है !

ये वैरायटी लीफ कर्ल वायरस के प्रति सहनशील है !

रस चूसने वाले किटो के प्रति भी सहनशील है !

बॉल बड़ी होती है !

ये किस्म मध्यम भारी जमीन के लिए उपयुक्त है !

RCH 776 cotton Variety

Rasi seeds की इस किस्म(cotton variety) की बिजाई पिछले वर्ष काफी एरिया में किसानो द्वारा बोई गई तथा अच्छी प्रतिक्रिया मिली !

इस किस्म पर फल श्रृंखला में आते है तथा कपास के बड़े गोले (बॉल) लगते है !

रस चूसने वाले किटो के प्रति भी सहनशील है !

बॉल पौधे पर बनी रहती है !

ये किस्म हल्की मध्यम जमीन के लिए उपयुक्त है !

US 51

US agriseeds की ये किस्म (cotton Variety) काफी अच्छी है जो किसानो के बीच बहुत पसंद की गई !

ये किस्म पंजाब हरियाणा तथा राजस्थान के लिए उपयुक्त है !

ये कपास की मध्यम परिपक्वता वाली हाइब्रिड किस्म है !

रस चुसक किटो के प्रति सहनशील है !

उपज काफी अच्छी देती है !

बॉल बड़े आकार की होती है !

इसकी चुगाई / कटाई आसान है !

Cotton Variety कपास की ज्यादा पैदावार देने की क्षमता वाली अच्छी किस्मे
Not related to any variety

US 71 (cotton Variety)

US 51 के बाद US agriseeds की इस किस्म (cotton Variety) ने भी कपास का काफी एरिया अपने नाम किया !

ये किस्म पंजाब हरियाणा तथा राजस्थान के लिए उपयुक्त है !

ये कपास की मध्यम परिपक्वता वाली हाइब्रिड किस्म है !

रस चुसक किटो के प्रति सहनशील है !

उपज काफी अच्छी देती है !

बॉल बड़े आकार की होती है !

इसकी चुगाई / कटाई आसान है !

Surpass 7172 BGII

ये बायर क्रॉप साइंस कंपनी की किस्म ( cotton variety) है !

किस राज्य के लिए उपयुक्त – उत्तर भारत राज्य जैसे पंजाब, हरियाणा और राजस्थान

समय – कपास की सरपास किस्म 162 से 170 दिन का समय लेती है !

ज्यादा पैदावार की क्षमता है !

कपास अच्छी खिलती है तथा चुगाई आसान है !

सफ़ेद मक्खी तथा लीफ कर्ल वायरस के प्रति सहनशील है !

गेहूं – कपास फसल चक्र के लिए ये किस्म अच्छी है !

Surpass 7272 BGII

किस राज्य के लिए उपयुक्त – ये मध्यम अवधि की किस्म (cotton variety) उतरी भारत के राज्य जैसे हरियाणा, पंजाब व् राजस्थान के लिए उपयुक्त है !

समय – ये 162 से 170 दिन की वैरायटी है !

पैदावार ज्यादा देती है !

खुला और सीधी बढ़ने वाली किस्म है और इसकी बॉल बड़ी होती है !

सफ़ेद मक्खी तथा लीफ कर्ल वायरस के सहनशील है !

Money Maker

ये कावेरी सीड्स कंपनी की वैरायटी (cotton variety) है !

इसकी बॉल बड़ी होती है !

ये वैरायटी काफी अच्छी पैदावार देती है !

Ajeet-199 BGII

ये किस्म 140 से 150 दिन लेती है !

पौधे की ऊंचाई 150 से 160 cm होती है !

कपास के गोले (बॉल) का वजन 6 से 6.5 ग्राम होता है !

ये किस्म कम पानी वाली जगह के लिए अच्छी है !

पत्ते लाल होने की समस्या कम होती है ! ये रस चुसक किटो और बीमारियों के प्रति सहनशील है !

रेशे की क्वालिटी अच्छी होती है !

Shriram 6588

ये मध्यम अवधि की किस्म (cotton variety) है !

ये किस्म 165 से 170 दिन का समय लेती है !

बॉल का वजन 5 से 5.5 ग्राम होता है !

अच्छी पैदावार देने वाली किस्म है !

मध्यम भारी जमीन के लिए उपयुक्त किस्म है !

इसके अलावा अजीत 55, ATM, JK8940, RCH 650 काफी अच्छी किस्मे है !

इसे भी पढ़े धान बिजाई की नई तकनीक लागत कम उत्पादन पूरा खरपतवार पर नियंत्रण

Best Chilli Variety Released by ICAR-IIHR

Disclaimer – उपर दी गई जानकारी किसानो द्वारा दी गई प्रतिक्रिया पर आधारित है इसके अलावा कुछ जानकारी कंपनी द्वारा प्रोडक्ट के बारे में दिए गए विवरण से ली गई है! किसान द्वारा जानकारी का इस्तेमाल करने से होने वाले किसी भी प्रकार के नुकसान या फायदे के लिए khetibiz.com उत्तरदायी नही होगा ! अपने विवेक से काम ले व् अपने क्षेत्र के कृषि अधिकारियो से संपर्क करे क्यूंकि अच्छे बीज के अलावा अन्य कारक जैसे मिटटी, जलवायु, बुवाई का समय, पोषक तत्व आदि बातें भी महतवपूर्ण होती है !      

शेयर करे

4 thoughts on “Cotton Variety कपास की ज्यादा पैदावार देने की क्षमता वाली अच्छी किस्मे”

  1. सर हरियाणा हिसार में सबसे अच्छी कपास की कोन सी वरायटी है बताये।पानी और मिट्टी बिलकुल सही है।

    Reply

Leave a comment

error: Content is protected !!