रोटावेटर (Rotavator) की विशेषताए क्या काम आता है !

रोटावेटर का आविष्कार वर्ष 1912 में आर्थर क्लिफोर्ड हॉवर्ड द्वारा किया गया था ! बीते कुछ सालो से इसका इस्तेमाल खेती में काफी बढ़ गया है ! धान की खेती में इसका ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है ! ये पडलिंग (कद्दू) के काम को आसान बनाता है और इसकी मदद से ये काम जल्दी होता है !

रोटावेटर (Rotavator) की विशेषताए:

यह स्टील फ्रेम, थ्री पाईंट हिच सिस्टम (खींचने वाली पद्धति ), घुमने वाली शाफ्ट (जिसमें ब्लेड चढ़े होते है) तथा शक्ति स्थानान्तरण पद्धति एवं गियर बाक्स से मिलकर बना होता है।

इसके ब्लेड एल आकार के मध्यम कार्बन स्टील या अलॉय स्टील से सख्त व आवश्यकता के अनुरूप संतुलित कर बनाये जाते है। यह ट्रैक्टर की पी.टी.ओ. पावर का इस्तेमाल करता है।

Rotavator का इस्तेमाल प्रथम जुताई एवं द्वितीय जुताई के लिए किया जाता है। इससे एक बार में बुवाई युक्त एवं खेत तैयार किये जाते है।

इसका इस्तेमाल सूखी, सिंचाई वाली एवं पानीयुक्त (पडलिंग) दोनो भूमि में किया जाता है। इसका उपयोग भूमि में खाद एवं भूसा मिलाने के लिए भी किया जाता है । रोटावेटर की चौडाई के अनुसार पावर का प्रयोग होता है।

रोटावेटर

रोटावेटर (Rotavator) बनावट विववरण / विनिर्देश :

वजन (कि.ग्रा.) : 230-310

वर्किंग चौडाई (मि.मी.) : 1200-1720

वर्किंग गहराई (मि.मी.) : 80-100

रोटर स्पीड : 210-240

क्षमता (हैक्टेयर/घंटे) : 0.38-0.5

शक्ति की आवश्यकता (अश्वशक्ति/किलोवाट) : 35-65/26.25-48.75 ट्रैक्टर

(रोटावेटर के साइज के आधार पर)

रोटावेटर (Rotavator) का उपयोग :

इसका उपयोग प्रथम एवं द्वितीय जुताई के लिए किया जाता है। इसका इस्तेमाल धान लगाने हेतु गीली जुताई (पडलिंग) के लिए भी किया जाता है।

रोटावेटर (Rotavator) की कीमत :-

रू. 70,000-1,00,000/

रोटावेटर (Rotavator) पर सब्सिडी

किसानो के लिए राज्यों द्वारा रोटावेटर (Rotavator) पर सब्सिडी प्रदान की जाती है ! सब्सिडी की दर सभी राज्यों में अलग अलग हो सकती है ! आमतौर पर लघु / सीमांत व् महिला किसानो के लिए सब्सिडी 50 % व् बड़े किसानो के लिए सब्सिडी 40 % होती है !

हरियाणा में सब्सिडी के यहाँ क्लिक करे

मध्य प्रदेश में सब्सिडी के लिए यहाँ क्लिक करे

बिहार में सब्सिडी के लिए यहाँ क्लिक करे !

शेयर करे

4 thoughts on “रोटावेटर (Rotavator) की विशेषताए क्या काम आता है !”

Leave a comment

error: Content is protected !!